शिवाजी महाराज से जुडी ये खास बडी बाते : सोच को बदल देगी - HUMAN

Breaking

Thursday, 20 December 2018

शिवाजी महाराज से जुडी ये खास बडी बाते : सोच को बदल देगी

Human



*शिवाजी महाराज का पराक्रम, उनकी कर्तव्यनिष्ठा, साहसी व्रीत्ती तो अतुलनीय है ही, लेकीन आज कुछ हटके जाणणे की कोशिश करते है उनके बारे में....


१) किसी बकरे या मुर्गी की बली ना चढ़ाते हुए खुद की उंगली से निकलते हुए खून शंकर के मंदिर में अभिषेक करनेवाला एकमेव राजा |

२) शिवाजी महाराज के किले को किसी भी भगवान का नाम नही |

३) उन्होने कभी भी निंबू मिर्ची नही टांगी या भगवान का नाम जपते नही बैठे |

४) जिस मनुस्मृती ने समुंदर लांघने का बंधन किया, उसके विपरीत जाकर समुंदर में नौदल खडा किया |

५) किला जितने के बाद कभी वहा सत्यनारायण कि पूजा नही करते बैठे |

६) अमावस कि रात को अशुभ माना जाता है, लेकीन उनकी लडाई अमावस कि रात को ही होती थी | क्योंकी अंधेरे का फायदा उठाते हुये वे बहुत सी मुहीम अमावस को चलाते, गनिमी कावा पद्धती से लडाई करते और जीत हासील करते |

७) मासाहेब जिजाऊ सहाजी राजा के देहांत के पश्चात सती नही गयी | बल्की सहाजी राजा के जाणे के बाद जिस मार्गदर्शन कि कमी शिवाजी राजा को खलती उस कमी को पुरा किया | गुरु बन शिवाजी राजे को मार्गदर्शन करती रही |

८) महाराज ने दैववाद, अंधविश्वास को कभी नही माना, खुद पर और खुद के बुद्धीचातुर्य पर उन्हे पुरा यकीन था |
९) रायगड पर काम करणे वाला हर इन्सान भुके पेट किले से नीचे नही जाणा चाहिये ऐसा नियम .....

 ऐसे थे राजे शिवाजी उस युग में भी अंधविश्वास और दैववाद स कोसो दूर .....